• Right to Equality : बराबरी का अधिकार

    कविवार में अबकी बार, बराबरी का अधिकार। एक बात बताइये..क्या स्त्री और पुरुष..गुणों की किसी भी एक कसौटी पर बराबर हो सकते हैं? इसका जवाब है नहीं, ऐसा कभी नहीं हो सकता.. क्योंकि स्त्री और पुरुष के कुछ स्वाभाविक गुण हैं और वही गुण उन्हें अलग या विशिष्ट बनाते हैं। बराबरी का मतलब ये नहीं […]

  • Equator : रंगभेद वाली भूमध्य रेखा
    Equator : रंगभेद वाली भूमध्य रेखा

    जब जातियां नहीं थीं, धर्म नहीं थे, तब भी रंगभेद था। रंग स्याह होते ही आदमी गुलाम हो जाता था। त्वचा का रंग आज भी सपनों की कई नदियों को किसी बांध की तरह रोक लेता है।

  • Beauty vs Mirrors : ख़ूबसूरती और आईने का मुक़ाबला
    Beauty vs Mirrors : ख़ूबसूरती और आईने का मुक़ाबला

    लोग आईने के सामने आकर खुद से प्यार करने लगते थे। चाहे काले से सफ़ेद होते बाल हों, चेहरे पर समय की सलवटें हों, चाहे आँखों के नीचे नींद का काला पानी ठहरा हुआ हो। बड़े से बड़े आलोचक की आँख भी, अपने शरीर के इन बदलावों को अनुभव के रूप में देखती थी।

  • Birthdays : एक इंसान के अस्तित्व का महोत्सव
    Birthdays : एक इंसान के अस्तित्व का महोत्सव

    किसी का जन्मदिन, उसके लिए एक बहुत बड़ा और एकदम नया अवसर होता है। ये दिन अपने ख़्यालों में अपनी ही तस्वीर बनाने और उसमें रंग भरने का होता है। आँखों के सामने कई पुराने वीडियो चल रहे होते हैं, पर किसी और को दिखाई नहीं देते। ये दिन खुद को दूसरों की नज़रों से […]

  • Blood Spots on Data Charts : आंकड़ों पर लगा ख़ून
    Blood Spots on Data Charts : आंकड़ों पर लगा ख़ून

    समय समय पर आंकड़ों के लेप से चमकते हुए तमाम विचारों में, ख़ून का लाल रंग भी नज़र आ जाता है।

  • Deep Dive : महत्वाकांक्षा और सपने के टकराव की चिंगारियाँ
    Deep Dive : महत्वाकांक्षा और सपने के टकराव की चिंगारियाँ

    Deep Dive क्या है ? एक गोताखोर की तरह किसी भी चीज़ (विषय-विवाद-भावना-पदार्थ) में गहराई तक उतरने की प्रवृत्ति। किसी भी चीज़ में चार-पाँच फुट से ज़्यादा गहरे उतरते ही सब कुछ नया हो जाता है। हम सब एक बार जन्म लेने के बाद भगवतकृपा से तो नये नहीं हो सकते, इसलिए गोताखोर बनना ज़रूरी […]

  • Havelis of Old Delhi : सपने देखने वाली पुरानी हवेलियां
    Havelis of Old Delhi : सपने देखने वाली पुरानी हवेलियां

    “कभी आओ हवेली पे” कई फिल्मों में ये डायलॉग आपने सुना होगा, ये शब्द खलनायक के मुंह से निकलते थे, और मकसद भी पवित्र नहीं होता था। लेकिन इस कविता में आप, हवेलियों को बारिश में भीगते हुए, एक दूसरे से पीठ जोड़कर बैठे हुए, दिन-रात सपने देखते हुए पाएंगे। मैंने हवेलियों को एक जीते […]

  • Rainbow : इंद्रधनुष
    Rainbow : इंद्रधनुष

    सबको उड़ना था.. सबके आसमान थे.. पर किसी के पास पैर रखने के लिए ज़मीन नहीं थी… पता नहीं लोग थे.. कि गुब्बारे थे.. जिनसे हवा निकलती जा रही थी

  • Veil of Monsoon : बूँदों का पर्दा

    इतने सारे मौसमों में उसे बरसात का मौसम पसंद है जब जब बारिश होती है उसके आंसू छिप जाते हैं वैसे बरसात में बहुत कुछ छिप जाता है कई स्याह रंग, पुरानी दरारें और.. पतली गलियों से गुज़रने वाले रास्ते भी एक तरफ दर्शक हैं दूसरी तरफ रंगमंच है बीच में बूंदों का पर्दा है […]

  • Homeless Air, Formless Water : हवा, पानी और 10 लाइन की कहानी

    अपने आसपास की हवा और पानी को महसूस कीजिए (प्रदूषित, धूल भरी आंधियों और तेज़ाबी बारिश की बात नहीं कर रहा हूं)। इन दो कविताओं में गति का बोध है। ये दोनों एक दूसरे से अलग नहीं रह सकतीं, इसलिए मैंने इन्हें एक साथ रहने की इजाज़त दे दी है। आपको इन दोनों से मिलना होगा। […]

  • Enemies are Street Lights 🔥 जलने वालों के नाम
    Enemies are Street Lights 🔥  जलने वालों के नाम

    जो आपसे जलते हैं.. वो तमाम लोग स्ट्रीट लाइट होते हैं.. आपके रास्ते पर रोशनी की कमी नहीं होने देते

  • Love Guaranteed : प्यार, एकदम पक्का !

    Core Thought : प्यार से प्यार का आश्वासन… और फिर प्यार का शवासन जब हाथ नहीं चलेंगे दिमाग नहीं चलेगा याद नहीं होगी तुमसे कोई फरियाद नहीं होगी तब भी ये रिश्ता.. मेरा-तुम्हारा ‘हमेशा’ चलता रहेगा पूरी दुनिया उबल रही है रिश्ते भाप बनकर उड़ रहे हैं ऐसे में तुम्हारा प्यार मिले या ना मिले […]

  • A Pinch of News : ख़बरें नुकीली हो गई हैं

    In 4th Century BC, Indian Political Philosopher and Economist Kautilya once said : “The arrow shot by the archer may or may not kill a single person. But stratagems devised by a wise man can kill even babes in the womb.” Same is true with News Now. This is a poem on present News Scenario. […]

  • Mother (मां) : Lifeline of Our World
    Mother (मां) : Lifeline of Our World

    वो माँ जिसने हमें जीतने वाली भीड़ में हारकर.. कपड़े झाड़कर, फिर से चलना सिखाया.. हम सबकी माताओं का लचीला और विशाल व्यक्तित्व.. बहुत कुछ सिखाता है।

  • Fist of Darkness : मुठ्ठी में अंधेरा
    Fist of Darkness : मुठ्ठी में अंधेरा

    एक हाथ ऊपर उठता है सूरज की तरफ बढ़ता है उस तक पहुंच जाता है उसे मुट्ठी में बंद कर लेता है लेकिन मुठ्ठी बंद होते ही… अंधेरा हो जाता है Poem & Digital Painting ~ © Siddharth Tripathi ✍ SidTree

  • Observatory : 30 साल के एक युवा गायक ने Pulitzer Prize कैसे जीत लिया?
    Observatory : 30 साल के एक युवा गायक ने Pulitzer Prize कैसे जीत लिया?

    परिभाषाएं बदल रही हैं, पैमाने टूट रहे हैं, नई हवा को स्वीकार करने के लिए खिड़कियां खुल रही हैं, DNA बदल रहा है। कुछ महीने पहले एक नये स्पीकर का विज्ञापन देख रहा था, और उसमें इस्तेमाल किए गये संगीत ने मेरा ध्यान खींचा। बार बार एक शब्द की आवृत्ति थी, और वो शब्द था […]

  • Wax Statues : कितना नाज़ुक है इंसान होना

    सबको Iron Man बनना है, पूरा का पूरा लोहे से बना हुआ, लेकिन इतना लौह अयस्क है नहीं इंसान की हड्डियों में। मोम से भी तेज़ पिघलते हैं हम, ज़िंदगी की तपिश में। संग्रहालय में स्थिर मुस्कानों और भंगिमाओं की सज्जा वाले मोम के पुतले दिखते हूबहू इंसान जैसे बता देते हैं कि कितना नाज़ुक […]

  • Red Light 🚦 लाल बत्ती

    रुकने का इशारा मिले तो ज़रा देर रुक जाना लाल बत्ती समय का वो टुकड़ा है जो तुम्हें मुफ़्त में मिल गया ये लम्हा इस एहसास के लिए है कि बेचैनी से भरी ये यात्रा सार्थक है भी या नहीं © Siddharth Tripathi ✍ SidTree

  • प्यार है अति स्निग्ध – Physical Properties of Love

    प्यार है अति स्निग्ध तलवार के वार से फिसलकर बचना उसे आता है क्रोध के तूफ़ान में जब आँखें बंद हो जाती हैं किसी मंत्र सा आध्यात्मिक होना उसे आता है छूटते हैं ये हाथ टूटता है साथ बार बार पर गांठ बांधकर सात फेरे लेना उसे आता है © Siddharth Tripathi ✍ SidTree

  • The ‘Change Energy’ of Keyboards : बदलाव की बिजली बनाने वाले की-बोर्ड
    The ‘Change Energy’ of Keyboards : बदलाव की बिजली बनाने वाले की-बोर्ड

    In background of Every Live Video Every Public Act Or War of Personalities There are Sketches Black and white spaces Mind Lines of endless possibilities Intermittent Taps on keyboards Trajectories of Lips with fake smiles Holding a House of cards on stage. Behind Claps & Cheers & Trends & Perfect Moments There are Musings of […]

  • ‘Struggle Report’ of Every Woman : हर नारी में आधा नर, अर्धनारीश्वर
    ‘Struggle Report’ of Every Woman : हर नारी में आधा नर, अर्धनारीश्वर

    On Women’s Day Weekend, I want to share some of my poems on Womanhood. These Poems talk about Present, They have essence of Past and trajectories of Future. Mother of My Child : मेरे बच्चे की मां Blood Report : लहूलुहान इम्तिहान Tears & Acid : पैरों पर तेज़ाब डालने वाली औरतें प्रश्नPoetry : बेचारी […]

  • Magnetism : चुंबकत्व

    This Poem defines magnetism in a very different way. Read it twice, you would feel the pull, push & pain… all at once. This poem has two halves one is sound & echo. Sound चारों तरफ से चुंबक की तरह खींचती है दुनिया अकेले होने का मौक़ा ही नहीं मिलता Echo एक चुंबक को भी […]

  • Observatory : श्रीदेवी की मौत ने आपकी कमज़ोर नस पर हाथ रख दिया
    Observatory : श्रीदेवी की मौत ने आपकी कमज़ोर नस पर हाथ रख दिया

    रविवार को दिन भर चाँदनी छाई रही और नाज़ुक ज़िंदगी की क़ीमत समझाने के लिए ऊपरवाले ने सूरज का दिन चुना! 54 साल की उम्र में श्रीदेवी का यूं मर जाना.. एक बार को अभिनय जैसा लगता है। “किसी दिन नस फ़ट जाएगी और सब कुछ यहीं पर,धरा का धरा रह जाएगा” अपने मित्रों, क़रीबी […]

  • Uh Huh : अहां

    ना जाने कितनी बार ये ध्वनि आपके मुँह से और अंतर्मन से निकली होगी। लेकिन शायद आपने इसकी संरचना के बारे में कभी सोचा नहीं होगा, क्योंकि ये बहुत ही सहज ध्वनि है। ऐसी ध्वनियों को हम बच्चे के मुंह से निकलने वाली ध्वनियों की श्रेणी में रख सकते हैं। जिस तरह नवजात शिशु के […]

  • Observatory : वो शायर जिसने औरंगज़ेब की चमचागीरी से इनकार किया था
    Observatory : वो शायर जिसने औरंगज़ेब की चमचागीरी से इनकार किया था

    Essence of Readings on Weekends The Captured Gazelle, Poems of Ghani Kashmiri (Published by Penguin) ग़नी कश्मीरी.. सत्रहवीं शताब्दी का वो सूफ़ी शायर जिसने कश्मीर की आत्मा को छुआ था, उस जन्नत को महसूस किया था। इस हफ़्ते इन जनाब की रचनाएं पढ़ीं। इनकी मूल भाषा फ़ारसी है.. और अनुवाद अंग्रेज़ी में किया गया है। […]