वानप्रस्थ में स्वप्न

boat paper

हर स्वप्न ज़ंजीरों में बँधा है,
हर उड़ान क़र्ज़ के पाश में है
दबाव ऐसा है कि हर सम्राट
वानप्रस्थ की तलाश में है

* वैसे ये भी एक कटाक्ष है कि मेरे साथ-साथ कैफ़े कॉफ़ी डे के मालिक का नाम भी सिद्धार्थ है

© Siddharth Tripathi ✍️ SidTree

how you feel ? ... Write it Now