All the World is a Garage : मरम्मत तसल्लीबख़्श

नफ़रत के स्पार्क प्लग लगाकर घूम रहे लोग
ये भूल गये हैं
कि पूरी दुनिया एक गैराज है
और हम सब
उसमें अपनी सर्विस करवाने आए हैं

© Siddharth Tripathi ✍️ SidTree, Poem & illustration is copyrighted, you are free to use with proper attribution.

2 Comments

  1. बहुत खूब
    शुभ मरा नहीं
    मनुष्यता का भाव कितना विस्तार लेता है
    अच्छी और शुभ अभिव्यक्ति

Comment