प्यार है अति स्निग्ध – Physical Properties of Love

प्यार है अति स्निग्ध
तलवार के वार से फिसलकर बचना
उसे आता है

क्रोध के तूफ़ान में
जब आँखें बंद हो जाती हैं
किसी मंत्र सा आध्यात्मिक होना
उसे आता है

छूटते हैं ये हाथ
टूटता है साथ बार बार
पर गांठ बांधकर सात फेरे लेना
उसे आता है

© Siddharth Tripathi ✍ SidTree

Comment