🌈 A Kavi on iPad creates 'Nirvana of Infotainment'

Climate Deal : महाशक्तियों को पूरी साँस नहीं मिलेगी

This is a special one for International Mother Earth Day

पुरानी साँसें बहुत जल्द मैली हो जाएंगी
इतनी मैली कि कार्बन जमने लगेगा सोच-समझ पर
इसलिए सभ्य व्यापारियों को नई साँसों की तलाश है
पलायन की तैयारी में लगे हैं सभी विकास-पुरुष
परंतु पलायन हो न सकेगा
धरती पर खिंची हुई सीमा रेखाएँ
हवा को न बाँट सकेंगी
श्वास नली में अटक जाएँगे
विकास के अवशेष, और…
विश्व की महाशक्तियों को पूरी साँस भी न मिलेगी

इसलिए सभ्य व्यापारियों को नई साँसों की तलाश है
पलायन की तैयारी में लगे हैं सभी विकास-पुरुष

© Siddharth Tripathi ✍️ SidTree

6 Responses to “Climate Deal : महाशक्तियों को पूरी साँस नहीं मिलेगी”

  1. Sarina

    कड़वा और सत्य! It should in English Version also so that विश्व की महाशक्तियां (अमरीका,ट्रंप) could read this.
    और “विकास पुरुष” विकास के लिये प्रदूषण को नज़र-अंदाज़ करते हैं और फिर पलायन चाहते है, ये कैसे संभव है सर हा हा! “विकास-पुरुष” की समझदारी का परिचय, पहले विकास फिर पलायन! “परंतु पलायन न हो सकेगा”।

    Like

    Reply
  2. Nikhil dubey

    साँसों में अटके विकास के अवशेष
    बहुत शानदार

    Like

    Reply
  3. Nivriti

    True… तथाकथित विकास के एवज़ में साँसों का सौदा..

    Like

    Reply

Leave a Reply | दिल की बात लिखिए

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Basic HTML is allowed. Your email address will not be published.

Subscribe to this comment feed via RSS

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.