Respiration : श्वास

‘Poetic परिभाषाएँ’ : ये काव्यात्मक परिभाषाओं की श्रृंखला है। वैसे तो परिभाषा किसी भी शब्द का सटीक अर्थ बताती है लेकिन अगर उसमें काव्य की कुछ बूँदें भी डाल दी जाएं, तो उसका दायरा बढ़ जाता है। उम्मीद है ये शैली आपको पसंद आएगी। 

इस श्रृंखला में सबसे पहले श्वास !


तुम्हारी साँस से मेरी साँस का रिश्ता है
मुलाक़ात हो जाए तो फ़ासला मिटता है

हर साँस में छोटी सी मौत का धोखा है
हर साँस में एक नये जन्म का मौक़ा है

हर बार ये सांस.. हवा बन जाती है
हर बार ये नाज़ुक देह छूट जाती है

जब जोड़ते हैं साँसों की कड़ियों को
तो जीवन की डोर जुड़ जाती है !


© Siddharth Tripathi  ✍️SidTree
Add Bookmark for SidTree.co

One Reply to “Respiration : श्वास”

  1. “हर साँस में छोटी सी मौत का धोखा है
    हर साँस में एक नये जन्म का मौक़ा है” ….वाह सर बहुत ख़ूब!

Comment