War with Darkness : थोड़ा सा अंधेरा भी मांग लिया

रोशनी के घूंट पीते पीते
थोड़ा सा अंधेरा भी मांग लिया
क्योंकि रोशनी संपूर्ण नहीं है
उसे भी अंधेरा चाहिए
युद्ध करके जीतने के लिए

हर रोज़, निरंतर ये युद्ध लड़ना
और अपने हर अंधेरे को जीतना ही दीवाली है

इस विचार को मेरी तरफ से शुभकामना मान लीजिए


© Siddharth Tripathi  *SidTree |  www.KavioniPad.com, 2016.

* Kavi on iPad = Poet on iPad : It is an Internet Project to forge Arts with Technology and showcase Poetry in Digital millennium

One Reply to “War with Darkness : थोड़ा सा अंधेरा भी मांग लिया”

  1. New & so beautiful poem.अपने हर अंधेरे को जीतना ही दीवाली है very real ,true & meaningful line & thought.आज आपके इस विचार से हमे दीवाली का असली अर्थ समझ आया.Actually हमे आपकी सोच और विचार बहोत अच्छे लगते है,उससे हम inspire होते है! Keep sharing.

Comment