Chess : शतरंज

Core Thought : Who is winner in the game of chess ? Does it matter ? By the time one manages to succeed, whole game changes / shifts. The Happiness and Slow Death flowing side by side like black and white squares of chess.

एक प्यादे ने दूसरे प्यादे से पूछा
मोहरों ने इस्तीफा दे दिया है
अब चाल कैसे चली जाएगी ?
शह मात का क्या होगा ?
म्यान में रखी तेज़ तलवार का क्या होगा ?

तभी बादशाह और वज़ीर
घोड़ों पर सवार होकर
64 खानों से गुज़र गए

थोड़ी दूर कॉफी की मेज़ पर रखे
एक चांदी के डिब्बे में
उनके लिए विशेष प्रबंध था
बादशाह और वज़ीर
उस डिब्बे में एकदम सुरक्षित थे

आनंद के साथ सुरक्षा और धीमी मृत्यु
बिलकुल शतरंज के काले-सफेद खानों की तरह

ये सब एक साथ हो रहा था
पूरा ज़माना गहरी नींद सो रहा था

 

© Siddharth Tripathi ✍️ SidTree

how you feel ? ... Write it Now